तेरे प्यार के असर की कहानी

तेरे गालो की यह लाली
मेरे दिल पे वार करे है कितने ।
हर दिन मुझे लगे दीवाली
तेरी हर मुस्कान में है रंग इतने ॥love-cartoon

तेरी यह दो आँखें मतवाली
इनमे ख्वाब लगे है मेरे सजने ।
तेरी ख़ूबसूरती है आसमानी
चाँद तारे करीब लगे है मुझे दिखने ॥

तेरी जुल्फो की छाँव है नीराली
इनसे पवन के झौके लगे है खेलने ।
मेरे नैनो को भा गयी तेरी जवानी
यह छुप-छुप कर तुझे लगे है देखने ॥

तेरे कदमो से है फैली ऐसी हरियाली
जीवन में हर जगह फूल लगे है खिलने ।
तेरे प्यार की आंधी चली है तूफानी
हर कोने से तेरी खुशबू लगी है आने ॥

तेरे प्यार के असर की है यह कहानी
कि संग तेरे वक़्त भी लगा है थमने ।
आज तुझे सुना रहा हूँ अपनी जुबानी
जो मेरी हर धड़कन लगी है अब कहने ॥

लो आ गया मैं वोट मांगने

अपनी बनावटी मुस्कान दिखाने
गली गली शोर मचाने ।
पांच साल पूरे होने के बहाने
लो आ गया मैं वोट मांगने ।।

Make it Count

Make it Count

बिन वजह झूठी हमदर्दी जताने
साथ में मगरमच्छ के आंसू बहाने ।
पुराने जख्मो को फिर खुरेदने
लो आ गया मैं वोट मांगने ।।

झूठे वादों कसमो के गुण गाने
उज्जवल भविष्य के सपने दिखाने ।
सबके जनतांत्रिक अधिकार को चुराने
लो आ गया मैं वोट मांगने ।।

अपने नेताओ की तारीफ करने
दूसरो के अछे कर्मो को अपना बताने ।
और तुम्हे अपनी बातो में नचाने
लो आ गया मैं वोट मांगने ।।

कुछ नोट दिखाकर वोट खरीदने
साड़ी कम्बल देके उल्लू बनाने ।
कुर्सी के चक्कर में देश डुबाने
लो आ गया मैं वोट मांगने ।।

The Mouse in the House

Below is an incident from my childhood which I remembered today.
 
“There must be atleast two or three of them.”, said my mother referring to the sightings of rats in our house which had become more frequent in the last few days.
 
“Yes, at least two. One of them is bigger than the other.”, I replied.
 
“Let’s set up a trap for them. Otherwise they will become a nuisance.” 
 
“Ok. Let me go and get them.”, I said as I rushed to the store room to get the mouse trap. “Should I set it up?”, I asked my mother, excited by the idea of baiting and trapping a mouse and rushed towards the refrigerator. I took out a small piece of dried bread from the refrigerator and was fixing it in the trap when my mother interrupted.
 
“Hey, what are you doing? A cold piece of dried bread? Let me cook a small piece of roti and we will apply some ghee and put it in the trap.”
 
“What? Roti? Ghee? Why the hell do we want to treat the rats with roti and ghee?”, I shouted as I found it hard to understand.
 
mouse trap

A typical mouse trap – Giving them what they want

“Because we want the mouse to do what we want (enter the trap), we must give them what they want (which is the nice smell of food). They won’t come into the trap if we just lure them with a dried piece of bread. These mice are not foolish. We have to lure them with what they can’t resist, which is the smell of roti and ghee.”

 
“Ok. If that is how it works.”, I said.
 
As I recalled this incident from my childhood, I was totally moved by the great lesson it has. My mom very clearly demonstrated that if we want someone to do what we want him to do, we must give him what he wants. But in our daily conversations, how often do we talk about the other person’s needs. We always start our conversations with “This is what I am doing, and this is what I want. And you should do this – buy this, act like this, or some other blah blah blah.” The other person must think on hearing this – “Why the hell in the world do I care about what you want?”
Only if we can keep in mind what the other person wants and start our conversations with his needs, and without doubt we can get the desired result more easily. Whether it is in sales or business or personal relationships, this one realization can change our lives.

बड़ा मजा आये मुझे – II

घर आके तेरा चहरा देखने में
रोज़ तेरे साथ बाते करने में
तेरे हाथो से खाना चखने में
तेरे हसी के ठहाके सुनने में
और रह रह कर तुझे छूने में
बड़ा मजा आये मुझे यह सब करने में ॥

धीरे धीरे तुझे दिल्ली घुमाने में
कभी इधर कभी उधर ले जाने में
तेरे साथ चाट गोल गप्पे खाने में
अचानक आई बारिश में भीगने में
और इस रंगीन सफ़र को साथ बिताने में
बड़ा मजा आये मुझे यह सब करने में ॥

Love is like playing the piano. First you must learn to play by the rules, then you must forget the rules and play from your heart.

Love is like playing the piano. First you must learn to play by the rules, then you must forget the rules and play from your heart.

रिश्तेदारों के यहाँ खाने को जाने में
वहा ज़बरदस्ती मीठा मीठा खाने में
भाई बहनों से ढेर सारी मस्ती करने में
बड़ो का प्यार और आशीर्वाद लेने में
और सबसे नज़रे चुराकर तुझे देखने में
बड़ा मजा आये मुझे यह सब करने में ॥

तेरे संग आगे जीवन के सपने सजाने में
हर पल को बीते पल से हसीन बनाने में
धीरे धीरे तेरे संग पूरी दुनिया देखने में
तेरे संग दिन महीने और साल गिनने में
और तेरे साथ तीस चालीस पचास का होने में
बड़ा मजा आये मुझे यह सब करने में ॥

ऐसा पहले होता ना था (Aisa Pahle Hota Na Tha)

Aisa Pahle Hota Na Tha

Aisa Pahle Hota Na Tha

तुझपे इतना प्यार आएगा ,
ऐसा कभी सोचा ना था
खुद को भी भूल जाऊ ,
ऐसा पहले होता ना था ।।

ऐसा आवारा दिल अपना
मैंने कभी देखा ना था
रात को नींद नहीं आये
ऐसा पहले होता ना था ।।

आंधी तो बहुत चली
हवा का ऐसा झोका ना था
दिन में भी सपने देखू
ऐसा पहले होता ना था ।।

मेरी शायरी भी तू पूरी करे
ऐसा मैंने सोचा ना था
मैं एक पंक्ति लिखू तू एक
ऐसा पहले होता ना था ।।

तेरे प्यार में होगी इतनी कशिश
ऐसा मैंने सोचा ना था
एक झलक में किसी की बेहोश
ऐसा पहले होता ना था ।।