in Hindi Poetry

माँ की हस्ती – Maa Ki Hasti (Who is a mother?)

सागर से भी विशाल हो प्यार जिसका
जो हर ठोकर के बाद दिखाए सही रास्ता
जो इन्सान होकर भी हो एक फ़रिश्ता
उस हस्ती को कहते है माँ !!

जो तुम्हारी फ़िक्र को तुमसे पहले जाने
जो तुम्हे तुम्से भी बहतर पहचाने
तुम्हारी हर इच्छा पे जो कह दे हा
उस हस्ती को कहते है माँ !!

A mother is person who can take the place of all others, but whose place no one else can take. - Cardinal Mermillod

A mother is person who can take the place of all others, but whose place no one else can take. – Cardinal Mermillod

जिसकी गोद हो तुम्हारा तकिया
जो तुम्हे सुलाए गाते हुए लोरिया
हमेशा रहेगी साथ जिसकी दुआ
उस हस्ती को कहते है माँ !!

जो ऊँगली पकड़ चलना सिखाए
हर मुस्किल में होसला बढ़ाये
अपने खून से जो लिखे हमारा भविश्य
उस हस्ती को कहते है माँ !!

जो तुम्हे मारे भी प्यार से
तुमसे रूठे तो भी प्यार से
तुम्हारे आँसू देख जो रो पड़े
उस हस्ती को कहते है माँ !!

जो आँख खोले तो तुम्हे ही ढूंढे ,
आँख बंद हो तो तुम्हारे ही सपने देखे
जो खुदा से भी मांगे तुम्हारी ही खुशिया
उस हस्ती को कहते है माँ !!

Write a Comment

Comment